April 30, 2020

दुनिया को ऋषी कपूर की निधन की खबर देने वाले अमिताभ खुद अन्तिम दर्शन को क्यो नही गये, बिग ब ने खुद बतायी वजह

बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार ऋषि कपूर पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं। बताया गया कि दाह संस्कार इलेक्ट्रिक मशीन के जरिए किया गया। जानकारी के लिए बता दें कि ऋषि कपूर का मुंबई के सर एचएन रिलायंस अस्पताल में निधन हो गया, जिसके बाद अब अंतिम संस्कार के लिए उनके पार्थिव शरीर को अस्पताल से मरीन लाइन्स चंदनवाड़ी शमशान भूमि ले जाया गया और उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान अभिषेक बच्चन, आलिया भटट्, फिल्म निर्देशक अयान मुखर्जी, सैफ अली खान और करीना कपूर समेत अन्य लोगों के ने रणबीर कपूर और नीतू सिंह का ढांढस बढ़ाया। हालांकि यहां ऋषि कपूर के अंतिम विदाई देने के लिए अमिताभ बच्चन कहीं दिखाई नहीं दिये। ऋषि कपूर के अंतिम दर्शन के लिए अमिताभ क्यों अस्पताल नहीं गये इस बारें में उन्होंने खुद बताया है। 
दुनिया को ऋषी कपूर की निधन की खबर देने वाले अमिताभ खुद अन्तिम दर्शन को क्यो नही गये, बिग ब ने खुद बतायी वजह
image credit google 

बता दें कि ऋषि कपूर की निधन की खबर सबसे पहले बॉलीवुड के बिग बी ने अपने ट्रवीट करते हुए दिया है, जिसके बाद बॉलीवुड से लेकर राजनीतिक गलियारों में यह खबर आग की तरह फैल गई। लोग ऋषि कपूर के निधन से शोक में डूब गए। हालांकि अमिताभ बच्चन ने कुछ देर बाद अपनी ये ट्रवीट डिलीट कर दी और एक नये पोस्ट के साथ उन्होंने ऋषि कपूर के प्रति अपनी फीलिंग जाहिर करते हुए एक इमोशल पोस्ट लिखा है। इस पोस्ट में अमिताभ ने ऋषि कपूर के संग अपनी पहली मुलाकात से लेकर आखिरी मुलाकात का जिक्र किया है। 

पढ़े- ऋषी कपूर की 25 अनसुनी कहानियाँ जो अमिताभ बच्चन ने बतायी
बिग बी ने ऋष‍ि कपूर की फ‍िल्‍म सरगम में उनका डफली बजाने वाला एक कैर‍िकेचर शेयर क‍िया है। इसके साथ ही उन्होंने एक लंबा पोस्ट लिखा है। बिग बी ने लिखा मेरी पहली बार च‍िंटू से मुलाकात उनके घर पर हुई जब उनके पिता राज कपूर जी ने मुझे एक शाम इंवाइट क‍िया था। मेरी पहली मुलाकात में मैंने पाया कि च‍िंटू बेहद शरारती हैं क्योंकि उनकी आंखों में एक खास तरह का शरारत दिखाई दिया था। हालांकि इसके बाद फिल्म  बॉबी की वजह से मेरी मुलाकात का सिलसिला ऋषि के साथ बढ़ता ही चला गया। आरके स्‍टूड‍ियो में देखा कि वो हर समय कुछ सीखने को आतुर द‍िखते थे। उनकी चाल का अंदाज भी अलग था। वह आत्‍मव‍िश्‍वास और दृढ़ता से भरे हुए दिखाई दिये एकदम अपने दादा पृथ्‍वीराज कपूर की तरह। चलने का ये अंदाज मैंने फ‍िर क‍िसी और में नहीं देखा और साथ ही क‍िसी गाने पर इतनी खूबसूरती लिप्सिंग भी मैंने किसी और में नहीं देखा। हमने कई फ‍िल्‍मों में साथ काम क‍िया। वह सेट पर हमेशा हंसी मजाक करते रहते थे। वह पास में रहे तो कभी कोई भारी पल आया ही नहीं। शूट‍िंग के बीच में टाइम मिले तो वह कार्ड्स या कोई बोर्ड गेम लेकर बैठ जाते थे। वह जिंदगी जीना जानते थे जो गुर उन्‍होंने अपने पिता शो मैन राज कपूर जी से सीखा। 

अमिताभ अब आगे लिखते हैं कि वह क्‍यों कभी ऋषि कपूर से मिलने हॉस्‍प‍िटल नहीं गए। उन्‍होंने ल‍िखा, '' ऋषि कपूर भले ही कितने बीमार क्यों न हो लेकिन वह अस्‍पताल जाते समय एकदम नॉर्मल दिखाई देते थे। ऐसे जैसे कुछ हुआ ही न हो और वो हमेशा कहते थे क‍ि मैं ठीक हो जाउंगा। यहीं कारण है कि मैंने कभी भी उस इंसान के हंसते चेहरे पर कभी बीमारी की श‍िकन नहीं देख पाया। मुझसे ये बर्दाश्‍त नहीं हो रहा लेकिन मैं जानता हूं कि जब वो गया होगा, उसके चेहरे पर वही ज‍िंदाद‍िली की मुस्‍कान खिली होगी जो हमेशा उनके चेहरे पर रहती थी। 

Popular Feed

Popular Posts

Popular Posts