31 दिसंबर 2020

जब राजेश खन्ना ने बेटी ट्विंकल को पिलायी थी शराब, कहा था एक नही 4 Boyfriend रखो

 हिंदी सिनेमा के पहले सुपरस्टार के रूप में दिग्गज़ अभिनेता राजेश खन्ना प्रसिद्ध है. पूरी दुनिया इस महान शख़्सियत की दीवानी हुआ करती थी. लड़कियों के बीच तो अभिनेता राजेश खन्ना की गजब की लोकप्रियता थी. ‘काका’ के नाम से मशहूर राजेश खन्ना की ज़िंदगी से जुड़े यूं तो कई किस्से है हालांकि आज हम आपसे उस किस्से के बारे में बात करेंगे जब राजेश खन्ना ने अपनी बड़ी बेटी अभिनेत्री ट्विंकल खन्ना से कहा था कि, एक नहीं चार बॉयफ्रेंड रखो.

जब राजेश खन्ना ने बेटी ट्विंकल को पिलायी थी शराब, कहा था एक नही 4 Boyfriend रखो


अभिनेता राजेश खन्ना के नाम से आज कोई भी अपरिचित नहीं है. उन्हें देश दुनिया में जाना-जाता है. हर शख़्स की ज़िंदगी में कोई न कोई रोचक किस्से होते है, वहीं फ़िल्मी सितारों की जिंदगी तो रोचक किस्से-वाक्यों से भरी हुई होती है. ‘काका’ के करीबी बताते हैं कि वह बहुत मजाकिया और खुले दिल के इंसान थे. उनका अपनी बड़ी बेटी ट्विंकल से एक मजबूत रिश्ता था.

जब ट्विंकल से कहा- ‘एक नहीं चार बॉयफ्रेंड रखो’

जो किस्सा हम आपको बताने जा रहे है वह ट्विंकल द्वारा खुद साझा किया गया था. उन्होंने साल 2019 के दौरान फादर्स डे पर अपने पिता राजेश खन्ना के लिए एक लेख लिखा था. इस दौरान उन्होंने इस किस्से का भी जिक्र किया था. उन्होंने कहा था कि, उनके पिता बहुत ही कूल डैड थे. राजेश खन्ना अपनी बेटी ट्विंकल को डेटिंग के लिए भी सलाह देते थे. ट्विंकल ने लिखा था कि, पिता राजेश ने उनसे पूछा कि क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है? फिर आगे सलाह देते हुए यह भी कहा कि हमेशा एक समय में चार बॉयफ्रेंड रखो, इस तरह आपका दिल कभी नहीं टूटेगा.

राजेश ने ट्विंकल को पिलाई शराब…

ट्विंकल ने लेख में इस बात का ख़ुलासा भी किया था कि, पिता राजेश खन्ना ने उन्हें पहली बार शराब भी पिलाई थी. एक्ट्रेस ने आगे लिखा था कि, ‘उन्होंने मेरे साथ हमेशा समान व्यवहार किया और यहां तक कि वह पहले इंसान थे, जिन्होंने मुझे शराब का पहला घूंट पिलाया और स्कॉर्च से भरी गिलास मेरे हाथों में थमाई थी.’

यह था असली नाम…

29 दिसंबर 1942 को राजेश खन्ना का जन्म अमृतसर में हुआ था. राजेश खन्ना का असली नाम जतिन खन्ना था. बताया जाता है कि, बचपन से ही वे फ़िल्मी दुनिया की ओर आकर्षित थे और बड़े हुए तो उन्होंने फिल्मों में किस्मत आजमाने का फ़ैसला किया. पहली बार साल 1966 में राजेश खन्ना ने 24 साल की उम्र में हिंदी सिनेमा में अपने कदम रखे. इस साल उनकी फिल्म ‘आखिरी खत’ आई. जिसे चेतन आंनद ने बनाया था.

‘आराधना’ से बने स्टार और फिर सुपरस्टार…

साल 1969 में आई फिल्म आराधना से राजेश खन्ना की किस्मत का सितारा चमक गया था. राजेश खन्ना की इस फिल्म को काफी पसंद किया गया और वे रातोंरात स्टार बन गए. उन्होंने आगे जाकर ‘कटी पतंग’, ‘अमर प्रेम’, ‘अनुराग’, ‘अजनबी’, ‘अनुरोध’ और ‘आवाज’ जैसी कई हिट फ़िल्में दी और वे फिर स्टार से सुपरस्टार बन गए. राजेश खन्ना के नाम एक साथ 15 हिट फ़िल्में देने का अटूट रिकॉर्ड भी दर्ज हैं.

हिंदी सिनेमा के पहले सुपरस्टार रहे राजेश खन्ना की जिंदगी के अंतिम दिन काफी तकलीफों में गुजरे हैं. साल 1973 में उन्होंने एक्ट्रेस डिम्पल कपाड़िया से हसदाई की थी, लेकिन दोनों 10 साल ही साथ रह पाए. हालांकि दोनों का तलाक नहीं हुआ था. डिम्पल बताती हैं कि, ‘हमारे घर से खुशी उसी दिन चली गई थी जिस दिन मैंने राजेश से शादी की थी.’ उनके मुताबिक़, राजेश खन्ना काम के चलते उन्हें समय नहीं दे पाते थे. बता दें कि, 12 जुलाई 2012 को राजेश खन्ना ने मुंबई में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था.

Popular Feed

लेबल

Popular Posts

Popular Posts